Sunday , November , 27 , 2022

मैं सिंगर नहीं बनना चाहती थी, लेकिन घर के माहौल ने आज सिंगर बना दिया : मैथली ठाकुर

मैं सिंगर नहीं बनना चाहती थी, लेकिन घर के माहौल ने आज सिंगर बना दिया : मैथली ठाकुर

भोपाल, न्यूज़ वर्ल्ड डेस्क। मैथिली ठाकुर एक इंडियन प्लेबैक सिंगर हैं, जिन्होंने इंडियन क्लासिकल म्यूजिक को अपनी गायकी का अंदाज बनाया है। मैथली ने सारे गामा पा लिटिल चैंप्स, इंडियन आइडल जूनियर और राइजिंग स्टार जैसे म्यूजिकल शो में अपनी गायकी का कमाल दिखाया है, वहीं वो आई जीनियस यंग सिंगिंग स्टार शो की विनर भी रही है। हाली ही में मैथली भोपाल में आयोजित हो रहे विश्वरंग कार्यक्रम में शामिल हुई, इस दौरान न्यूज़ वर्ल्ड से खास बातचीत में उन्होंने अपने संगीतमय सफर के अनुभव साझा किए।


मैथली ने बताया कि सिंगर बनने की उनकी कोई इच्छा नहीं थी, लेकिन घर में संगीत का माहौल था इसलिए वो सिंगर बनी। मैथली ने बताया कि, जब संगीत अभ्यास करने को बोला जाता था, खाने पीने में परहेज का बोला जाता था तो उन्हें बिल्कुल पसंद नहीं आता था। लेकिन घर में ऐसा माहौल था कि आज वो यहां तक आ सकी।


मैथली का कहना है कि, आज के समय में सबसे ज्यादा सम्मान और इज्जत उसको मिल रही है जो बॉलीवुड में काम कर रहे हैं। मैथली चाहती कि ऐसा ही सम्मना और इज्जत लोक गायकों को भी मिलनी चाहिए। उनका कहना है कि, लोक गायकी को बढ़ावा मिले इसलिए बहुत जरूरी है कि संगीत के क्षेत्र में लोकगीतों को गाने वाले लोग आगे आएं और लोग उनको सुने।


जब मैथली से न्यूज़ वर्ल्ड संवाददाता ने पूछा कि वो म्यूजिक रियलिटी शो की क्या अहमियत मानती हैं तो उन्होंने बताया कि, इसका बहुत फायदा होता है। सिंगर को फेम दिलाने में रियलिटी शो काफी योगदान है। वो कही है कि, उसमें (रियलिटी शो) मुझे भी जाने का मौका मिला था, काफी लोगों ने मुझे टीवी पर सुना तब से लोग मुझे जानने लगे हैं। लेकिन उस पहचान को आगे बढ़ाने में काफी मेहनत लगी है मुझे।


मैथली ने बताया कि, रियलिटी शो जीतने के बाद भी लोग गुमनामी में खो जाते हैं और मेरे साथ ऐसा न हो इसलिए मैंने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म का सहारा लिया और अपनी मेहनत नहीं रोकी। कई बार ऐसा होता है कि लोग शो के विनर बन जाते हैं तो उन्हें एक उपलब्धि वाली फीलिंग आती है, उन्हें लगने लगता है कि मैंने यह अचीव कर लिया है और वहां पर वो चीज खराब हो जाती है। मैथली कहती है कि, मेरे साथ वो सब न हो इसलिए मैंने खूब मेहनत करती हूं।

Deepak Singh

Deepak Singh

deepak@newsworld.com

Comments

Add Comment