Sunday , November , 27 , 2022

अगर हेल्दी बच्चा चाहिए तो इन 5 तरीकों से आप बढ़ा सकें है अपनी फर्टिलिटी

अगर हेल्दी बच्चा चाहिए तो इन 5 तरीकों से आप बढ़ा सकें है अपनी फर्टिलिटी

2 नवंबर को वर्ल्ड फर्टिलिटी डे (World Fertility Day) मनाया जाता है। यह दिन इसलिए मनाया जाता है कि पुरुष और महिलाओं की फर्टिलिटी पावर को बेहतर रखा जा सके। जिससे पैदा होने वाला बच्चा हेल्दी हो। लेकिन खराब लाइफस्टाइल के कारण कपल्स की फर्टिलिटी घटती जा रही है। 40 की उम्र के बाद स्वस्थ गर्भधारण की संभावना कम हो जाती है। अगर आप फर्टिलिटी सुधारकर हेल्दी बच्चा पाना चाहते हैं, तो सही समय पर 5 काम करना शुरू कर दें।


फर्टिलिटी सुधारने का बेस्ट टाइम कब है?

Pristyn Care की को-फाउंडर और गायनेकोलॉजिस्ट डॉ. गरिमा साहनी ने कहा कि फर्टिलिटी और गर्भधारण को सुधारने के लिए पोषण बहुत जरूरी है। इसलिए आपको अपनी डाइट के साथ लाइफस्टाइल को हेल्दी बनाना चाहिए। डॉक्टर के मुताबिक, जीवनशैली में इन बदलावों को अपनाने का बेस्ट टाइम पूर्व गर्भधारण (Preconception) का होता है। जो कि महिला के कंसीव करने से 3 महीने पहले तक होता है। इसी समय पर फर्टिलिटी और गर्भ में बच्चे का स्वास्थ्य काफी हद तक निर्भर करता है।


पति-पत्नी कंट्रोल करें वजन

महिलाओं को अनहेल्दी वेट के कारण हार्मोनल असंतुलन, ओव्यूलेशन की समस्या और मासिक धर्म संबंधी विकार हो सकते हैं। वहीं, मोटे पुरुषों में हार्मोनल समस्याएं और इरेक्शन डिसफंक्शन होना आम हैं। मोटापा आईवीएफ ट्रीटमेंट (IVF Treatment) में भी बाधा बनता है। इसलिए महिला के गर्भधारण करने से 3 महीने पहले तक पुरुष पार्टनर को अपना वजन कंट्रोल कर लेना चाहिए। क्योंकि, वजन कंट्रोल करने के तीन महीने बाद ही शरीर में हेल्दी स्पर्म बन पाता है। इससे पुरुषों की स्पर्म क्वालिटी और स्पर्म काउंट बढ़ जाता है। महिलाओं में वजन कंट्रोल करने से गर्भधारण की संभावना बढ़ जाती है।


हेल्दी डाइट

हेल्दी डाइट लेने से गर्भधारण की संभावना बढ़ जाती है। इस डाइट में पर्याप्त मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट्स, फाइबर, प्री और प्रो-बायोटिक्स, हेल्दी फैट्स, साबुत अनाज, फ्लूइड, लो ग्लाइसेमिक इंडेक्स फूड होने चाहिए। नॉन-वेजिटेरियन लोग अंडा, मछली और चिकन भी खा सकते हैं। इन फूड्स के अलावा, फर्टिलिटी सुधारने के लिए ड्राई फ्रूट्स खाने चाहिए। इनसे जरूरी प्रोटीन, विटामिन और मिनरल्स मिलते हैं। महिलाओं को खाने में खासतौर से पालक, ब्रोकली, मेथी, अन्य हरी-पत्तेदार सब्जी, रास्पबेरी, ब्लूबेरी, सेम, केला, क्विनोआ और कद्दू के बीज खाने चाहिए। लहसुन खाने से पुरुषों की फर्टिलिटी बढ़ती है।


रेगुलर फिटनेस एक्टिविटी करने से हॉर्मोन्स संतुलित होते हैं। इसके अलावा, इंसुलिन रेजिस्टेंस सुधरता है और तनाव कम होता है। यह सभी चीजें पुरुष और महिलाओं की प्रजनन क्षमता सुधारने में मदद करती हैं। वहीं, आईवीएफ कराने वाली महिलाओं के लिए भी व्यायाम महत्वपूर्ण है और यह वजन कंट्रोल करने में भी मदद करता है।


इन चीजों का ना करें सेवन

फर्टिलिटी बढ़ाने के लिए आपको चाय, कॉफी और कोल्ड ड्रिंक जैसी कैफीन वाली चीजों का सेवन बंद कर देना चाहिए। ऐसा करने से पैदा होने वाले बच्चे के हेल्दी होने की संभावना बढ़ जाती है। आपको बता दें कि कई शोध के मुताबिक, तनाव कम करने के साथ हेल्दी लाइफस्टाइल अपनाने से महिलाओं की प्रजनन क्षमता में 80 प्रतिशत तक बढ़ोतरी होती है।


एल्कोहॉल का सेवन ना करें

शराब (एल्कोहॉल) का सेवन करने से प्रेगनेंसी में देरी होती है। इसके अलावा, गर्भ में पल रहे बच्चे के स्वास्थ्य पर भी नकारात्मक असर पड़ता है। जो पुरुष एल्कोहॉल का ज्यादा सेवन करते हैं, उनमें नपुंसकता, लो स्पर्म काउंट, सेक्स ड्राइव में कमी जैसी दिक्कतें पैदा हो जाती हैं। इन टिप्स के साथ आप योगा करके भी 40 की उम्र के बाद तक फर्टिलिटी सुधार सकते हैं।

Sanju Suryawanshi

Sanju Suryawanshi

info@newsworld.com

Comments

Add Comment