Tuesday , September , 27 , 2022

ब्रिटेन में अब तक की सबसे बड़ी अंत्येष्टि, राष्ट्रपति द्रौपदी शामिल होंगी

ब्रिटेन में अब तक की सबसे बड़ी अंत्येष्टि, राष्ट्रपति द्रौपदी शामिल होंगी

लंदन, (आईएएनएस)। भारत की राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू उन 500 विदेशी गणमान्य व्यक्तियों में शामिल हैं, जो सोमवार 19 सितंबर को महारानी एलिजाबेथ-द्वितीय की अंत्येष्टि में शामिल होंगे। महारानी ने रिकॉर्ड 70 साल तक शासन किया। ब्रिटेन के प्रसारक निगम बीबीसी ने टिप्पणी की कि यह 21वीं सदी में तुलना से परे एक घटना होगी।


द्रौपदी मुर्मू को लंदन में बकिंघम पैलेस में एक राजकीय स्वागत समारोह के लिए आमंत्रित किया गया है, जिसकी मेजबानी किंग चार्ल्स-तृतीय कर रहे हैं। वह आज रविवार को विदेशी गणमान्य व्यक्तियों का स्वागत करेंगे। पहुंचे हुए अतिथियों ने यूनाइटेड किंगडम के संसद के वेस्टमिंस्टर हॉल में एक ताबूत में रखे गए महारानी के पार्थिव शरीर के अंतिम दर्शन किए और उन्हें श्रद्धांजलि दी। बड़े पैमाने पर किए गए इंतजाम की देखरेख कर रहे ड्यूक ऑफ नॉरफॉक के अर्ल मार्शल ने मीडिया से कहा : यह हमारा उद्देश्य और विश्वास है कि महारानी की राजकीय अंत्येष्टि दुनिया भर के लोगों को एकजुट करेगी।


सेंट्रल लंदन स्थित वेस्टमिंस्टर एब्बे में 2,000 से अधिक मेहमान पहुंचेंगे। महारानी का पार्थिव शरीर कई दिनों से वेस्टमिंस्टर पैलेस में है। अनुमान है कि अब तक 750, 000 ब्रितानी और विदेशी मेहमान महारानी के अंतिम दर्शन कर चुके हैं। इस आयोजन में सशस्त्र बलों के लगभग 4,000 कर्मी भाग लेंगे। अनुमान है कि टेलीविजन पर अरबों दर्शक महारानी की अंत्येष्टि देखेंगे।


सन् 1965 में द्वितीय विश्वयुद्ध के दौरान प्रधानमंत्री रहे सर विंस्टन चर्चिल की अंत्येष्टि हुई थी, जो ब्रिटेन में पहली राजकीय अंत्येष्टि थी। उसके बाद अब होने जा रही है, जिसमें जापान के सम्राट, बेल्जियम, नीदरलैंड और स्पेन के राजा व रानी उपस्थित होंगे।


राष्ट्राध्यक्षों की सूची में अग्रणी संयुक्त राज्य अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन और फ्रांसीसी राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों हैं। जर्मनी प्रोटोकॉल का पालन करते हुए अपने प्रमुख राज्य अध्यक्ष फ्रैंक-वाल्टर स्टीनमीयर को भेज रहा है, न कि सरकार के प्रमुख चांसलर ओलाफ स्कोल्ज को।


चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग को निमंत्रण दिया गया था। इस पर कुछ ब्रिटिश संसद सदस्यों ने आपत्ति जताई थी। उनके बजाय चीन के उपराष्ट्रपति वांग कीशान पीपुल्स रिपब्लिक का प्रतिनिधित्व कर सकते हैं। रूस, बेलारूस, सीरिया, म्यांमार, अफगानिस्तान और वेनेजुएला उन कुछ देशों में शामिल हैं जो अतिथि सूची में नहीं हैं। उत्तर कोरिया को राजदूत के स्तर पर निमंत्रण दिया गया है।


आयोजन के लिए ब्रिटिश शाही परिवार के सदस्यों के लिए निर्धारित ड्रेस कोड ब्रिटेन के मीडिया में बहुत बहस का विषय रहा है। सोमवार को अभय और समारोहों में सेवा के लिए, किंग चार्ल्स-तृतीय, उनके बेटे प्रिंस विलियम, अब सिंहासन के उत्तराधिकारी, चार्ल्स की बहन राजकुमारी ऐनी और भाई प्रिंस एडवर्ड सैन्य वर्दी पहनेंगे। अंतिम संस्कार भारतीय मानक के अनुसार दोपहर 3.30 बजे शुरू होगा, जो एक घंटे तक चलने की उम्मीद है।


--आईएएनएस

एसजीके

News World Desk

News World Desk

desk@newsworld.com

Comments

Add Comment