Sunday , November , 27 , 2022

भाजपा ने बुलाई सभी राज्यों के प्रभारियों की बैठक, चुनावी तैयारियों पर होगी चर्चा

भाजपा ने बुलाई सभी राज्यों के प्रभारियों की बैठक, चुनावी तैयारियों पर होगी चर्चा

नई दिल्ली, (आईएएनएस)। 2024 में होने वाले लोक सभा चुनाव और विभिन्न राज्यों में होने वाले आगामी विधान सभा चुनावों के मद्देनजर भाजपा ने मंगलवार को अपने सभी राज्यों के प्रभारियों की महत्वपूर्ण बैठक बुलाई है। बताया जा रहा है कि इस बैठक में पार्टी संगठन को मजबूत बनाने और चुनावों की तैयारियों के साथ-साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जन्मदिन के उपलक्ष्य में देश भर में सेवा पखवाड़ा के तहत चलाए जा रहे विभिन्न अभियानों एवं कार्यक्रमों की भी समीक्षा की जाएगी।


बैठक में संगठनात्मक ²ष्टिकोण से पार्टी संगठन के कामकाज की समीक्षा के साथ-साथ भविष्य की रणनीति को लेकर भी चर्चा की जाएगी। सभी प्रदेशों के प्रभारी अपने-अपने प्रदेशों के कामकाज को लेकर बैठक में रिपोर्ट रखेंगे। बैठक की अध्यक्षता पार्टी के राष्ट्रीय संगठन महासचिव बी.एल. संतोष करेंगे।


आपको बता दें कि, भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा ने इसी महीने नौ सितंबर को विभिन्न राज्यों के प्रभारियों में बड़ा फेरबदल करते हुए कई पूर्व मुख्यमंत्रियों और पार्टी के दिग्गज नेताओं को विभिन्न राज्यों का प्रभारी बनाया था। गुजरात के पूर्व मुख्यमंत्री विजय रूपानी, त्रिपुरा के पूर्व मुख्यमंत्री बिप्लव देव, पार्टी राष्ट्रीय महासचिव विनोद तावड़े, पूर्व केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावडेकर एवं महेश शर्मा और ओम माथुर जैसे कई अन्य दिग्गज नेताओं को विभिन्न राज्यों का प्रभारी और सह प्रभारी नियुक्त किया था। उस घोषणा के बाद प्रदेश प्रभारियों की यह पहली बड़ी बैठक मंगलवार को होने जा रही है।


दरअसल, इस वर्ष के आखिर में हिमाचल प्रदेश और गुजरात में विधान सभा चुनाव होने वाले हैं। हिमाचल प्रदेश में लगातार दूसरी बार चुनाव जीत कर भाजपा प्रदेश से जुड़े मिथक को बदलना चाहती है तो वहीं अपने सबसे मजबूत गढ़ गुजरात में इस बार शानदार जीत हासिल करना चाहती है।


अगले वर्ष यानी 2023 में मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, कर्नाटक, तेलंगाना, राजस्थान, त्रिपुरा, मेघालय, मिजोरम और नागालैंड में विधान सभा चुनाव होने हैं। जिन राज्यों में भाजपा अभी सत्ता में है, उन राज्यों की सत्ता बरकरार रखने के साथ-साथ भाजपा राजस्थान और छत्तीसगढ़ में कांग्रेस को सत्ता से बाहर करना चाहती है वहीं तेलंगाना में भी टीआरएस सरकार को हराने की रणनीति पर काम कर रही है। इसके मद्देनजर मंगलवार की बैठक को काफी महत्वपूर्ण माना जा रहा है।


--आईएएनएस

एसटीपी/एसकेपी

News World Desk

News World Desk

desknewsworld@gmail.com

Comments

Add Comment