Sunday , November , 27 , 2022

त्रिपुष्कर योग में आज मनाई जाएगी धनतेरस, जलेंगे दीप

त्रिपुष्कर योग में आज मनाया जाएगा धनतेरस, जलेंगे दीप

त्रिपुष्कर योग में धनतेरस पर शनिवार को बाजार गुलजार रहेगा। प्रदोष के साथ धनतेरस में दीप जलाकर दीपमाला के पर्व का शुभारंभ किया जाएगा। धनतेरस प्रदोषव्यापिनी पर्व है, इसलिए गोधूलि बेला में खरीदारी शुभ मानी जाती है। धनतेरस पर शुभ समय में दीप जलाकर दीपमाला के पर्व का शुभारंभ करना चाहिए। वहीं शुक्रवार को रमा एकादशी पर लोगों ने जमकर खरीदारी की।


महालक्ष्मी पूजा से होता है आरोग्य

22 अक्टूबर को धनतेरस के दिन धन्वंतरी जयंती भी है। इस दिन महालक्ष्मी की पूजा अर्चना करने से आरोग्य बना रहता है। 23 अक्टूबर को नरक चौदस है। मान्यता अनुसार इस दिन भगवान श्री कृष्ण ने नरकासुर नामक राक्षस की कैद से 16008 रानियों को मुक्त कराया था, इस दिन को छोटी दीपावली भी कहा जाता है। 24 अक्टूबर दीपावली के अवसर पर घर-घर दीप जगमगाएंगे। 25 को सूर्य ग्रहण रहेगा, 26 अक्टूबर को अन्नकूट महोत्सव और 27 अक्टूबर को भाई दूज व यम द्वितीय पर्व मनाया जाएगा।


एक साथ कई शुभ संयोग

धार्मिक विद्वानों के मुताबिक इस बार धनतेरस पर कई सारी शुभ चीजें एक साथ घट रही है। 23 अक्टूबर को दिन भर धनतेरस की खरीदारी होगी। उस दिन महालक्ष्मी, भगवान गणेश, धनवंतरी और कुबेर देव की पूजा होती है। उसी दिन प्रदोष व्रत होगा और शनि ग्रह मार्गी हो जाएगी। उनकी मार्गी होने से कई राशियों के जीवन में खुशियों की बहार आएगी।


धनतेरस में खरीदारी के लिए शुभ मुहूर्त

धनतेरस की त्रयोदशी तिथि 22 अक्टूबर शनिवार को दोपहर 4:04 से शुरू होकर 23 अक्टूबर रविवार की शाम 4:35 तक रहेगी। 22 को ही प्रदोष व्रत भी रहेगा ऐसे में 22 अक्टूबर को ही धनतेरस मनाई जाएगी, क्योंकि धनतेरस प्रदोष के दिन ही रहती है। त्रिपुष्कर योग में धन्वंतरी जयंती के साथ धनतेरस की पूजा प्रदोष काल में गोधूलि समय 6:02 से 8:17 तक रहेगा। बाजार में धन वर्षा होगी।

News World Desk

News World Desk

desknewsworld@gmail.com

Comments

Add Comment